WhatsApp Group Join Now

Aster flower in hindi | एस्टर फूल की संपूर्ण जानकारी

Aster flower in hindi :- जय हिंद दोस्तों, दुनिया की सबसे खूबसूरत में फूलों में से एक एस्टर जो दिखने में तारे के समान होता है। एस्टर फूल का उपयोग गुलदस्ता, भेंट के रूप में किया जाता है। इसको सच्चाई, दोस्ती एवं प्रेम का प्रतीक माना जाता है। एस्टर फूल का वैज्ञानिक नाम Aster है। जो अपना संबंध डेजी एवं कंपोजिटी परिवार से रखता है। पूरी दुनिया में एस्टर की लगभग 170 प्रजातियां मौजूद है, जिनमे से अधिकांश प्रजाति के फूल ग्रीष्मकल ऋतु में खिलती है। एस्टर का मूल निवास स्थान उत्तरी अमेरिका एवं यूरोपीय देश है।
आज इस लेखन में हम Aster flower in hindi से संबंधित जितने प्रकार की जानकारी है। हम आप तक बहुत आसान भाषा में पहुंचाने की कोशिश करेंगे।

एस्टर फूल के महत्वपूर्ण जानकारी। Important Information of aster flower in hindi

पौधा :- एस्टर फूल का पौधा 1 से 4 फीट ऊंचा एवं 2 से 3 सेंटीमीटर चौड़ा जो दिखने में भूरे रंग का होता है। यह एक बारहमासी पौधा है जिसको स्थानीय भाषा में माइकल मास डेजी कहते है। एस्टर का पौधा Asteraceae परिवार से आता है।

पत्ते :- एस्टर पौधे की पत्तियां 8 से 9 सेंटीमीटर लंबे एवं 5 से 6 सेंटीमीटर चौड़े होते है। एस्टर पौधे के पत्तियों में लगभग 12 मोड होते है। जो जवानी में हरे रंग एवं बुढ़ापे में पीले रंग में तब्दील हो जाती है।

फूल :- एस्टर फूल का आकार 4 से 5 सेंटीमीटर होता है। जो दिखने में गुलाबी, नीला, बैंगनी, सफेद, पीला, लाल आदि रंग का हो सकता है।

एस्टर फूल की खेती अमेरिका एवं यूरोपीय देशों में अधिकांश की जाती है।

ऐसा कहा जाता है। 19वी शताब्दी के शुरुआत में यूरोप के कुछ भागों में सांप काटने पर एस्टर फूल को पीसकर सांप के काटने वाले भाग में लगाते थे जिससे उस व्यक्ति को विश नहीं चढ़ता था। इस बात की पुष्टि Hindibrother.com नहीं करती है।

Aster flower

Aster flower

एस्टर फूल की महत्वपूर्ण प्रजातियां। Important species of aster flower in hindi

पूरी दुनिया एस्टर फुल की लगभग 170 प्रजातियां मौजूद है। जिनमें से 10 प्रमुख प्रजातियां के बारे में आपको जानना है। वह इस प्रकार से है।

1. White heath aster । व्हाइट हेथ एस्टर :- यह एक झाड़ी नुमा पौधा है, जिसके फूल में कुल 12 पंखुड़ियां जो दिखने में सफेद रंग की होती है वही पंखुड़ियो के बीचो-बीच पीले रंग की खोपा, जिसमे एस्टर फूल की बीज होती है। इसका मूल निवास स्थान यूरोप एवं दक्षिणी एशियाई देश है।

2. White wood aster । व्हाइट वुड एस्टर :- एस्टर की यह प्रजाति औषधिये रूप से परिपूर्ण है। जो दिखने में पीले एवं सफेद रंग की होती है। इसका मूल निवास स्थान उत्तरी अमेरिका है। यह प्रजाति जंगलों में अधिकांश पाई जाती है।

3. Blue wood aster। ब्लू वुड एस्टर :- यह जंगलों में पाए जाने वाला फूल है। इस फूल का अधिकांश उपयोग दवाई बनाने में किया जाता है। जो दिखने में नीला एवं सफेद रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान उत्तरी अमेरिका है।

4. Chinese aster l चाइनीज एस्टर :- यह एक बारहमासी पौधा है जिसके अधिकांश बाग चीन में है। बहुत बड़े भाग में चीन इसका निर्यात करता है। जो दिखने में पीला एवं बैंगनी रंग वा इसका मूल निवास स्थान चीन, मंगोलिया, हांगकांग है।

5. European michaelmas daisy । यूरोपियन मिचाइलमस डेसी :- यह शाकाहारी प्रजाति का फूल है। इस प्रजाति के अधिकांश उपयोग घर के बगीचे में लगाना पसंद में किया जाता है। जो दिखने में बैंगनी, पीली एवं नीले रंग की होती है। इसका मूल निवास स्थान यूरोपीय देश है।

6. New england aster। न्यू इंग्लैंड एस्टर :- इसके पौधे की लंबाई लगभग 12 फीट वही इसकी चौड़ाई 5 फीट तक होती है। जो एस्टर फूल की सबसे बड़ी पौधे वाला प्रजाति है। यह दिखने में पीला एवं नीला रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान इंग्लैंड एवं पूर्वी अमेरिका है।

7. New york aster। न्यू यॉर्क एस्टर :- यह दिखने में बेहद आकर्षक एवं खूबसूरत है, इसका अधिकांश उपयोग सजावटी सामान, गुलदस्ता आदि में किया जाता है। जो दिखने में सफेद, पीला एवं नीला रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान अमेरिका है।

8. Aster। एस्टर :- एस्टर फूल की एकमात्र प्रजाति जिसकी मौजूदगी लगभग पूरी दुनिया में है। जो दिखने में गुलाबी, पीली, सफेद एवं नीली रंग की होती है। इसका मूल निवास स्थान यूरोपीय देश है।

9. Bushy aster। बुशी एस्टर :- यह एक बारहमासी पौधा है जिसका उपयोग जड़ी बूटी में अत्यधिक की जाती है। यह दिखने में सफेद पीला, गुलाबी एवं नीले रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान मध्य अमेरिका है।

10. American asters। अमेरिकन एस्टर :- अमेरिकी वासी इस पौधे का उपयोग दवाई बनाने में करते है। जो दिखने में पीला एवं सफेद रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान अमेरिका है।

कारनेशन फुल की पूरी जानकारी

जाने कैसे उगाए घर पर एस्टर का फूल

गमला :- 10 इंच लम्बा एवं 8 इंच चौड़ा गमले का चुनाव करना है जिसमें जल निकासी का स्थान हो।

उचित समय :- एस्टर बीज लगाने का उपयुक्त समय दिसंबर से फरवरी माह के बीच होती है।

बीज :- उच्च गुणवत्ता की बीज आप अपने नजदीकी पैक्स या बीज भंडारण से प्राप्त कर सकते है।

मिट्टी :- मिट्टी में हल्का नामी हो जिसकी पीएच मान 5 से 7 की बीच हो तो चलेगा

स्थान :- गमले को वैसे स्थान में रखना है जहां तीन से चार घंटे धूप आती हो। अधिकांश तापमान 20 से 25°c के बीच होनी चाहिए।

बीज रोपण :- 70% सामान्य मिट्टी, 30% घरेलू खाद के मिश्रण को गमले के 70% हिस्से में डालनी है। कुछ समय पश्चात एस्टर बीज को मिट्टी के 2 इंच नीचे डालनी है। एवं मिश्रित मिट्टी को 10% और डालनी है। गमले में 20% हिस्से को खुला रखना चाहिए जिसमे पानी का छिड़काव कर सके।

Aster flower

Aster flower

देखभाल कैसे करें।

पानी :- शुरुआती दिनों में पानी का छिड़काव नियमित मात्रा में करें। अधिक करते है तो बीज सड़ भी सकता है।

पौधा :- बीज रोपण के एक सप्ताह बाद पौधे का आगमन हो जाता है।

सफाई :- पौधे का विशेष रूप से ध्यान रखना है, उसके आसपास साफ सफाई करते रहना नहीं तो फफूंदी जैसे रोग हो सकते है।

धूप :- प्रतिदिन पौधे में तीन से चार घंटे धूप लगने देनी है। जिससे पौधे का विकास जल्दी होगा।

फूल :- पौधा रोपण के 70 से 80 दिनों के अंतराल में फूल खिलना शुरू हो जाता है। एस्टर फूल साल में दो बार खिलती है।

कुछ सामान्य रोग एवं उनका निवारण

रोग
खस्ता फफूंदी :- यह पौधे में होने वाला एक सामान्य रोग है जो पत्तियों के विकास को रोक देता है।

निवारण
पौधे के आसपास अच्छी तरह से साफ सफाई करें। जब भी आप पौधे को स्पर्श करते है तो हाथ में ग्लव्स अवश्य पहनें। अन्यथा आप बीज भंडारण से कीटनाशक खरीद के उपयोग कर सकते है।

रोग
बीज सड़न :- यह रोग बीज में पानी का अधिकांश प्रयोग से होता है।

निवारण
जब बीज की रोपाई करते है तो कम से कम 4 से 5 दिनों तक पानी का छिड़काव कम मात्रा में करना है। अगर आपकी बीज सड़ गई है तो आपको पुनः उसके स्थान पर नए बीच का प्रयोग करना होगा बस ध्यान रहे की पानी छिड़काव काम मात्रा में करना है।

10 ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्न जो एस्टर फूल के बारे में पूछा जाता है।

1. एस्टर फूल का पौधा कैसा है?
Ans बारहमासी

2. एस्टर फूल का उपयोग कहां-कहां होता है?
Ans गुलदस्ता, सजावटी सामान

3. क्या एस्टर फूल के पौधे का उपयोग दवाई बनाने में किया जाता है?
Ans जी हां एस्टर के पौधे में कई ऐसे औषधि मिलते है, जिनका प्रयोग दवाई बनाने में किया जाता है।

4. एस्टर फुल का वानस्पतिक नाम क्या है?
Ans symphyotrichum

5. एस्टर फुल की तुलना किससे की जाती है?
Ans तारा से क्योंकि आकार एवं बनावट बिल्कुल तारा के समान होता है।

6. एस्टर फुल को किसका प्रतीक माना जाता है?
Ans दोस्ती प्यार एवं ज्ञान का प्रतीक माना जाता है।

7. कौन देश के लोग एस्टर फूल को पूजते है?
Ans प्राचीन समय में ग्रीस नामक देश के लोग एस्टर फूल का उपयोग पूजा में करते थे।

8. एस्टर फुल का नाम एस्टर कैसे पड़ा?
Ans aster ग्रीक भाषा का एक शब्द है जिसे लोग तारा से संबोधित करते थे वहीं से इसका नाम एस्टर पड़ा।

9. क्या घर में एस्टर फूल को लगा सकते है?
Ans जी हा लगाने की विधि ऊपर बताई गई है।

10. क्या भारत में एस्टर फुल पाए जाते है?
Ans हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, असम जैसे राज्यों में एस्टर फूल पाया जाता है।

बहुत-बहुत धन्यवाद जो आपने अपना कीमती वक्त निकाल कर हमारा लेख Aster flower in hindi को पढ़ें मुझे पूरा यकीन है कि आपको इस लेख से कुछ जानकारी जरूर प्राप्त हुई होगी। तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके।
अगर गलती से हमसे किसी प्रकार की जानकारी छूट गई है तो आप हमें टिप्पणी करके अवश्य बताएं।

लिली फूलों की महत्वपूर्ण जानकारी

गुलबहार फूल की पूरी जानकारी

Leave a Comment