WhatsApp Group Join Now

Champa flower in hindi | चंपा फूल की सामान्य जानकारी

Champa flower in hindi :- जय हिंद दोस्तों, चंपा छोटी मनमोहक एवं खूबसूरत फूल है। इसकी उपस्थिति वेनेजुएला, कोलंबिया, एवं मध्य अमेरिका से हुआ और पूरी दुनिया में फैल गया। चंपा फूल का उपयोग गुलदस्ता, शादी एवं समारोह में सजावट, पूजा सामग्री आदि में किया जाता है। चंपा औषधिये रूप से भी परिपूर्ण है, जो बहुत से रोगों को जड़ से खत्म करता है। चंपा दिखने में लाल, गुलाबी, पीला, सफेद, बदामी एवं नीले रंग का हो सकता है। चंपा फूल का वैज्ञानिक नाम मैग्नोलिया चंपाका है, जो डोगबानेस परिवार से अपना संबंध रखता है।
आज हम अपनी लेख Champa flower in hindi से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियो पर एक नजर डालेंगे और इससे संबंधित जितने भी प्रश्न है उनको आसान भाषा में समझाने की कोशिश करेंगे। यह लेख उनके लिए वरदान होगा जो Champa flower के बारे जानना चाहते हैं।

चंपा फूल की सामान्य जानकारी । Information of Champa flower in hindi

1. चंपा फूल का वृक्ष 20 से 30 फीट (6 से 9 मीटर) लंबा एवं 5 मीटर चौड़ा होता है इसके कई छोटे छोटे टहनियां होते हैं जो इसे खूबसूरत बनाते है।

2. चंपा की पत्तियां 18 से 24 सेंटीमीटर लंबे एवं 8 से 10 सेंटीमीटर चौड़ा, जिसे टहनियों के अंतिम छोर में अधिकांश देखा जाता है। पत्ते मोटे एवं चमकीले जो हरे रंग का होता है।

3. पांच पंखुड़ियो वाला चंपा का फूल जो 20 से 25 सेंटीमीटर लंबा, ये दिखने में लाल, गुलाबी, पीला, नीला, सफेद, एवं बदामी रंग का होता है।

4. मध्यकाल में चंपा का फूल केवल वेनेजुएला, कोलंबिया, मध्य अमेरिका, मेक्सिको, ब्राज़ील, कैरेबियन, मेक्सिको जैसे देशों में पाई जाती थी। संपूर्ण विश्व में जब अंग्रेजों का प्रभाव बढ़ा तो अपने साथ बहुत ऐसे महत्वपूर्ण वस्तुओं को पूरे विश्व में फैलाएं उनमें से एक चंपा का फूल भी था। 18 वीं शताब्दी के प्रारंभ में यह संपूर्ण विश्व में फैल गया।

5. चंपा वृक्ष का औसतन जीवन काल 5 से 6 वर्ष होता है। वही चंपा फूल 5 से 7 दिनों तक जीवित रहता है।

Champa flower

चंपा फूल की महत्वपूर्ण जानकारी । Important Information of Champa flower in hindi

  • चंपा फूल को शांति एवं सादगी का प्रतीक माना जाता है।
  • चंपा फूल में अंबिका माता का वास होता है। चंपा फूल को घर के पास लगाने से घर में सुख समृद्धि बना रहता है।
  • हिंदू धर्म में चंपा फूल को पवित्र माना गया है।
  • वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर में चंपा फूल से बना माला को चढ़ाया जाता है।
  • चंपा फूल इतना पवित्र है कि इसमें तितलियां, भवरे, कीड़े, मकोड़े आदि नहीं बैठते हैं।
  • चंपा फूल का प्रयोग । Use of Champa flower in hindi
  • चंपा फूल का उपयोग शादी विवाह, बड़े-बड़े सेमिनार आदि जगह में सजावट के रूप में प्रयोग किया जाता है।
  • प्रेम प्रसंग में चंपा फूल को गुलदस्ते के रूप में दिया जाता है।
  • कई आधुनिक कंपनिया चंपा फूल से बने इत्र का निर्यात करती है जिनकी मांग बाजार में काफी ज्यादा है।
  • चंपा फूल को पीस कर, उसको दूध के साथ मिश्रण करके, चेहरे में लगाने से, चेहरा साफ हो जाता है।

चंपा फूल के स्वास्थ्य लाभ । Health Benefits of Champa flower in hindi

  • चंपा फूल में कईं औषधीय तत्व पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते है। चंपा फूल से होने वाले फायदे निम्न है
  • चंपा फूल में कफनाशक की उपस्थित होती है, जो सर्दी खांसी एवं बुखार को खत्म करने में सक्षम होता है।
  • दाग, धब्बे आदि से छुटकारा दिलाता हैं।
  • लंबे समय से अगर आपको पेशाब करने में समस्या होती है तो डॉक्टर के सलाह के बाद ही चंपा फूल का सेवन करनी है क्योंकि इसमें उपस्थित एंटीबॉडी समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायता करता है।
  • चंपा फूल का तेल बनाया जाता है, जो सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है।
  • चंपा फूल के तेल का कुछ अद्भुत लाभ जो इस प्रकार से है।
  • बालों में मजबूती प्रदान करता है।
  • घुटने का दर्द, कमर दर्द आदि से राहत दिलाता है।

Champa flower

चंपा फूल की महत्वपूर्ण प्रजातियां । Important species of Champa flower in hindi

1. Plumeria pudica । प्लूमेरिया पुडिका :- प्लूमेरिया फूल की इस प्रजाति में औषधिये गुण काफी अधिक पाई जाती है जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। जो दिखने में सफेद एवं बीच में पीले रंग का होता है, इसके कुल 5 पंखुड़ियां होती है जो इसे आकर्षक बनाती है। इसकी उपस्थिति वेनेजुएला, कोलंबिया है।

2. Singapore graveyard flower। सिंगापुर ग्रेवयार्ड फ्लावर :- चंपा फूल कि इस प्रजाति की खुशबू काफी मनमोहक होती है इसलिए इसका प्रयोग अधिकांश सजावटी तोर में की जाती है। यह दिखने में सफेद रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान सिंगापुर है।

3. Red frangipani । रेड फ्रांगीपनी :- यह उष्णकटिबंधीय जलवायु में उगने वाला फूल है जिसका अधिकांश प्रयोग पूजा सामग्री में किया जाता है। यह दिखने में लाल, पीला एवं सफेद रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान वेनेजुएला, अमेरिका, भारत है।

4. Plumeria stenopetala । प्लूमेरिया स्टेनोपेटला :- चंपा फूल की प्रजातियो में सबसे विचित्र फुल इसी प्रजाति का है, इसका फुल पतली एवं लंबी होती है। जो दिखने में सफेद रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान भारत, अमेरिका, चीन, म्यांमार है।

5. Plumeria alba । प्लूमेरिया अल्बा :- प्लूमेरिया की सबसे खूबसूरत प्रजाति है, जिसे उष्णकटिबंधीय जलवायु में उगाया जाता है। यह दिखने में पीला एवं सफेद रंग का होता है। इसका का मूल निवास स्थान वेनेजुएला है।

10 ऐसे प्रश्न जो चंपा फूल से संबंधित पूछी जाती है।

1. चंपा फूल संपूर्ण विश्व में कैसे फैला?
Ans 17वीं शताब्दी के अंत में पूरे विश्व में अंग्रेजों का दबदबा छाने लगा था। इसी कर्म में अंग्रेज अमेरिका में इस फूल को देखते हैं जो उनके मन को भा लेता है। वहीं से यह फूल संपूर्ण विश्व में फैला था।

2. चंपा फूल में किसका वास होता है?
Ans हिंदू धर्म की माता अंबिका का वास होता है।

3. चंपा फूल को किसका प्रतीक माना जाता है?
Ans शांति एवं सादगी का

4. घर के सामने चंपा फूल को लगाने से क्या प्राप्त होता है?
Ans घर में सुख शांति बनी रहती है।

5. चंपा के फूल में भवरे, तितली, जुगनू, मधुमक्खी आदि क्यों नहीं बैठते हैं?
Ans चंपा के फूल से एक अजीब तरह की सुगंध निकलती है जो इन सभी को भाता नहीं है।

6. भारत के किस मंदिर में चंपा फूल को चढ़ाना सौभाग्य मान गया है?
Ans काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी

7. प्रेमी जोड़े चंपा फूल का उपयोग किस रूप में करते हैं?
Ans गुलदस्ते के रूप में।

8. वर्तमान समय में सड़क किनारे, पार्क, गार्डन जैसे सभी जगह में अधिकांश किस फूल को लगाना पसंद कर रहे हैं?
Ans चंपा फूल को

9. लाओस नमक देश का राष्ट्रीय फूल क्या है?
Ans चंपा फूल

10. भारत के कौन-कौन से राज्य में चंपा का फूल पाया जाता है?
Ans महाराष्ट्र, कर्नाटक, मणिपुर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, असम आदि राज्य है।

हमें यह जानकर खुशी होगी कि आपको हमारा लेख Champa flower in hindi अच्छी लगी होगी। अगर अच्छी लगी होगी तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।
अगर गलती से हमसे किसी प्रकार की जानकारी छूट गई है तो आप हमें टिप्पणी करके अवश्य बताएं।

और पढ़ें  > एस्टर फूल के महत्वपूर्ण जानकारी

और पढ़ें  > जिन्निया फुल की महत्वपूर्ण जानकारियां

और पढ़ें  > पोस्ता फूल से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

और पढ़ें  > मोगरा फूल की महत्वपूर्ण जानकारी

Leave a Comment