WhatsApp Group Join Now

Eagle bird in Hindi | बाज पक्षी के 35 अदभुत जानकारी

Eagle bird in Hindi :- जय हिंद दोस्तों, दोस्तो आज हम पक्षियों के राजा कहे जाने वाले बाज के बारे में पूरे विस्तार से जानने वाले है। बाज अपनी तेज दौड़, शिकार एवं आसमान की अधिक ऊंचाइयों में उड़ान के लिए प्रसिद्ध है। अन्य पक्षियों के तुलना में सबसे अधिक ऊंचाई में उड़ने वाली पक्षी बाज है। जिसको अंग्रेजी में Eagle, हिंदी में बाज के नाम से जाना जाता है। यह मांसाहारी एवं शिकारी पक्षी है, जिसका वैज्ञानिक नाम एक्सीपिट्रीडे है। आज हम अपने लेख Eagle bird in Hindi के बारे में पूरे विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे। अगर आपको बाज से संबंधित पूरी जानकारी चाहिए तो हमारे पेज को अंत तक अवश्य पढ़ें।

बाज पक्षी की जानकारी

1. बाज पक्षी पूरी दुनिया में पाई जाती है, जिसकी 55 से अधिक प्रजातियां मौजूद है। यह केवल अंटार्कटिक महाद्वीप में नहीं पाई जाती है।

2. 12 से 25 इंच के बीच में बाज पक्षी की लंबाई हो सकते है। एवं 30 से 48 इंच तक बाज के पंख हो सकते हैं। नर बाज, मादा बाज की तुलना में काफी छोटे होते हैं।

3. बाज पक्षी न्यूजीलैंड नामक देश का प्रजाति है, क्योंकि न्यूजीलैंड में लगभग 1,400 ईसा पूर्व का बाज का कंकाल मिला है। इसके पंख 3 मीटर बड़े थे, जो दुनिया के सबसे बड़े बाज होने का दावा करता था।

4. सामान्य बाज की वजन लगभग 5 किलोग्राम तक हो सकता है।

5. बाज पक्षी के पंख बड़े मजबूत होते हैं, जिस के सहयोग से बाज लगभग 300 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से उड़ान भर सकता है।

6. बाज मुख्य रूप से मांसाहारी पक्षी है, जो बकरी के बच्चे, खरगोश, चूहे, मछली एवं छोटे-छोटे पक्षियों को अपना भोजन बनाता है।

7. बाज पक्षी का जीवनकाल 60 से 70 साल के बीच होती है, जो अपनी अधिकांश समय आसमान की ऊंचाइयों में बिताना पसंद करते हैं।

8. बाज शिकारी पक्षियों की श्रेणी में आता है, इसी क्रम में चील, गिद्ध आदि पक्षी आते हैं, और यह सब गरुड़ परिवार से जुड़े हैं।

9. मादा बाज एक समय में 3 से 4 अंडे देती है, एव अंडे से बच्चे बाहर निकलने में लगभग 37 दिन का समय लगता है। और मादा बाज प्रतिदिन 4 से 5 घंटे अंडे में बैठती है, जिसकी वजह से बच्चे अंडे से बाहर निकलते हैं।

10. बाज के बच्चे लगभग 4 से 5 सप्ताह में उड़ने के लिए तैयार हो जाते हैं।

11. बाज में देखने की क्षमता बहुत अधिक होती है। वह एक समय में दो शिकार को 5 किलोमीटर की दूरी से आसानी से देख सकता हैं।

12. एक स्वस्थ बाज लगभग 5 किलो वजन उठा सकता है, इसलिए कभी-कभी हिरण के बच्चे का शिकार कर लेते है।

13. बाज आकाश में लगभग 10000 फीट की ऊंचाई में बहुत आसानी से उड़ सकता है।

14. बाज तेजी से उड़ने के अलावे तेजी से दौड़ना एवं तैरने में भी सक्षम होते हैं।

15. बाज को जंगल में रहने वाले आदिवासी अपने रक्षा के लिए पालते हैं।

16. अरब के देशों में बाज को पालना शान का प्रतीक माना जाता है, इसलिए संयुक्त राज्य अमीरात (UAE) नामक देश का राष्ट्रीय पक्षी है।

17. कई देशों के पुलिस एवं आर्मी बाज को पालते हैं, जो अपराधी पकड़ने में सहायता करता है।

18. बाज भरपूर मात्रा में नींद लेता है, इसलिए वह केवल दिन में सक्रिय होता है और रात में सोने का काम करता है।

19. बाज के मस्तिष्क का वजन उनके आंखों के वजन की तुलना में कम रहता है।

20. बाज उन गिने-चुने पक्षी की श्रेणी में आता है, जो उड़ते समय संभोग करते हैं, और बाज में सबसे खास बात यह है कि एक नर बाज एक ही मादा बाज के साथ पूरी जिंदगी भर साथ रहता है।

21. बाज पक्षी के पंजे अन्य पक्षी वा मनुष्य की तुलना में काफी मजबूत एवं शक्तिशाली होते है।

22. बाज पक्षी सबसे अधिक अफ्रीका एवं एशिया महाद्वीप में पाए जाते हैं।

23. हिंदू धर्म में बाज को पूजा किया जाता है, क्योंकि पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु जी का वाहन बाज ही है।

24. बाज के शरीर में मनुष्य की तरह ही keratin नामक हार्मोन पाया जाता है। जो मानव शरीर में नाखून एवं बाल टूटने के बाद पुनः उगाने का काम करती है। ठीक इसी तरह बाज की आधी जिंदगी बीतने के बाद उसका नाखून एवं पंख दोनों टूट जाती है। और keratin के सहयोग से पुनः निकल आती है।

25. बाज की आवाज मधुर होती है, जो बहुत दूर तक सुनाई देता है।

26. बाज अल्ट्रावायलेट किरणों को आसानी से देख सकता है, यही बात को और खास बनाती है।

27. बहुत ऐसे देश है जो बाज को किस्मत का प्रतीक मानते हैं, यही कारण से बाज को कई देशों के राष्ट्रीय झंडे में देखा जा सकता है।

28. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सैनिकों के द्वारा बाज को पाला जाता था, और बाज उन कबूतरों का शिकार करते थे
जो संदेश को एक जगह से दूसरे जगह ले कर जाते थे।

29. बाज अपने साथी के साथ रहना ज्यादा पसंद करते हैं, इसलिए बाज को हम समूह में देख सकते हैं।

30. अलास्का नामक देश में कुछ ऐसे मछुआरे थे जिनको यह लगता था कि Bald eagle प्रजाति का बाज उनके लिए खतरा पैदा कर सकता है। इसलिए सन 1930 से 1965 के बीच में लगभग 1000000 से अधिक बाजो को मार दिया गया जिसकी वजह से यह प्रजाति विलुप्त के कगार पर आ गई थी

31. Bald eagle नामक प्रजाति के बाज को सन 1970 के दशक में विलुप्त घोषित कर दिया गया था लेकिन 2005 के आसपास में अफ्रीका के देशों में कुछ बाज को देखा गया और उस समय से लेकर अब तक 400 से अधिक बाज को देखा गया है, इसलिए इस प्रजाति को विलुप्त के स्थान से हटाया गया है।

32. बाज के घोसले काफी बड़े होते हैं, जिसकी लंबाई 2 से 4 फिट होती है, और व्यास 4 से 6 फीट तक हो सकती है, बाज के घोंसले काफी मजबूत होते हैं, इसलिए बाज एक
ही घोसले का बार-बार प्रयोग करती है।

33. बाज कभी-कभी अपने शिकार की तलाश में 100 किलोमीटर की दूरी तय करती है।

34. Steller eagle नामक प्रजाति के बाज का वजन अन्य बाजो के प्रजाति की तुलना में सबसे ज्यादा रहता है। इसका वजन 10 किलोग्राम तक हो सकता है।

35. भारत में बाज के शिकार पर रोक लगी है, क्योंकि यह गैरकानूनी है।

Eagle bird

Important Things about Eagle Bird

नाम- हिंदी में बाज, अंग्रेजी में Eagle

परिवार – चील एवं गिद्ध

वैज्ञानिक नाम – एक्सीपिट्रीडे

प्रजातियां – 55 लगभग

10 line about Eagle Bird

1. एक स्वस्थ बाज का लगभग 5 किलोग्राम वजन होता है।

2. बाज को पक्षियों का राजा कहा जाता है।

3. बाज अपनी रफ्तार के लिए जाना जाता है।

4. यूएई नामक देश का राष्ट्रीय पक्षी बाज है।

5. बाज एक ऐसा पक्षी है, जो उड़ भी सकता है, दौड़ भी सकता है, और तेर भी सकता है।

6. बाज का वैज्ञानिक नाम एक्सीपिट्रीडे है।

7. बाज 300 की स्पीड से उड़ सकता है।

8. मादा बाज एक समय में तीन से चार अंडे देती है।

9. भगवान विष्णु जी का वाहन बाज पक्षी है।

10. Steller eagle नामक बाज का प्रजाति का वजन 10 kg तक हो सकता है।

दोस्तों मुझे आशा है कि आप को हमारा लेख Eagle Bird in Hindi पसंद आया हो,
दोस्तों अगर हमसे इससे संबंधित कुछ जानकारी छूट गई है, तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

Leave a Comment