WhatsApp Group Join Now

Heron Bird information in Hindi | बगुला पक्षी की पूरी जानकारी

Heron Bird in Hindi – जय हिंद दोस्तों, बगुला बेहद खास एवं खूबसूरत पक्षी है। इसकी मौजूदगी पूरी दुनिया में है जो इसे खास बनाती है। बगुला को अंग्रेजी में Heron Bird व वैज्ञानिक नाम Ardeidae है। जो पानी मे रहना पसंद करती है। बगुला की लगभग 70 प्रजातियां पाई जाती है और सभी प्रजाति का रूप रंग अलग-अलग है। बगुला बहुत फुर्तीली पक्षी है जो शिकार करने में बहुत तेज है इसलिए यह रात में भी शिकार करने में सक्षम है। बगुला सामूहिक पक्षी है जो समूह में रहना पसंद करती है, एक समूह में 10 से 12 बगुले होते हैं।
दोस्तों अब सब बगुला के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं और अपने ज्ञान को बढ़ाना है तो हमारा लेखन Heron Bird in Hindi को पूरा पढ़े। जिससे आपका ज्ञान इनक्रीस होगा।

Information of Heron Bird in Hindi | बगुला पक्षी की पूरी जानकारी

1. रंग:- बगुला दिखने में काला, भूरा, नीला और सफेद हो सकता है सफेद रंग का बगुला भारत में पाया जाता है।

2. प्रजनन:- बगुला उन पक्षियों की श्रेणी में आता है जो किसी भी मौसम में प्रजनन कर सकता है। मादा बगुला एक समय में 4 से 5 अंडे देती है, अंडे से बच्चे बाहर निकलने में 15 से 20 दिनों का समय लेते हैं तब तक मादा बगुला अंडे को सेती है यह 20 दिन नर बगुले कि जीवन काफी संघर्षों से भरा होता है क्योंकि उस समय मादा बगुले की भोजन व्यवस्था करना रहता है।

3. आकार:- सामान्य बगुले 55 इंच लंबे हो सकते है, वही इनकी पंख 100 इंच तक बड़े होते है। Goliath heron नामक प्रजाति का बगुला लगभग 60 इंच लंबा होता है और इसके पंख 110 इंच बड़े होते है। यह बगुले की सबसे बड़ी प्रजाति है। तो वही सबसे छोटी प्रजाति Least bittern है जो लगभग 30 इंच लंबी होती है और इसका पंख लगभग 50 इंच बड़ा होता है। सभी प्रजाति के बगुले की चोंच काली एवं मजबूत होती है और बगुले की गर्दन S की भांति दिखाई देती है।

4. वजन:- एक सामान्य बगुले की वजन 500g होता है। बगुले कि सबसे बड़ी प्रजाति Goliath heron इसका वजन 5kg तक होता है। और सबसे छोटी प्रजाति Least bittern इसका वजन 200g तक होता है।

5. जीवन काल:- बगुले का सामान्य जीवनकाल 15 से 20 वर्ष के बीच होता है। Great blue heron नामक बगुले की प्रजाति लगभग 25 वर्ष तक जीवित रहता है, और The dwarf bittern नामक प्रजाति का बगुला लगभग 12 वर्ष तक जीवित रहता है।

6. भोजन:- वैसे तो बगुले का मुख्य भोजन मछली होता है, लेकिन कभी-कभी कीड़े मकोड़े भी खा लेती है।

7. निवास:- तलाब, नदी, नहर, पोखरा आदि के किनारे के पेड़ में अपना घोंसला बनाती है। बगुले अधिकांश समय पानी में बिताते हैं। भारत में बगुले की 22 प्रजातियां पाई जाती है जो पूरी दुनिया के तुलना में सबसे ज्यादा है इसलिए बगुले का निवास स्थान भारत है।

Interesting facts of Heron Bird in Hindi | बगुला पक्षी की रोचक तथ्य 

1. बगुला अपना अधिकांश समय पानी या दलदलिय इलाकों में बिताता है, क्योंकि यहां इसको आसानी से भोजन प्राप्त हो जाता है।

2. बगुला एक सामूहिक पक्षी है जो समूह में रहना पसंद करती है। एक समूह में 10 से 12 बगुले साथ रहते हैं।

3. बगुले को सबसे तेज पक्षी कहा जाता है ये शिकार करने में बहुत तेज होता है। बगुला अधिकांश दिन में ही शिकार करता है, लेकिन यह रात में भी शिकार करने में सक्षम है। बगुला को चलाक पक्षी भी कहा जाता है।

4. बगुला उड़ने में भी सक्षम है यह 50 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से उड़ सकता है।

5. जुलाई माह में किसान जब खेतो की जुताई करते है तो उस समय खेत से निकलने वाले कीड़े मकोड़े को खाने का काम करता है। जिससे किसानों को काफी फायदा होता है यही कारण से बगुले को किसान का सहायक कहा गया है।

6. कुछ प्राकृतिक दुश्मन बगुले का बिल्ली, रैकून, लोमड़ी आदि।

बगुला पक्षी की प्रजातियां

बगुला गिने-चुने पंछियों के श्रेणी में आता है जो पूरे विश्व में पाया जाता है। अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप ऑस्ट्रेलिया, एशिया में मौजूद है। पूरी दुनिया में इसकी लगभग 70 प्रजातियां मौजूद है इनमें से महत्वपूर्ण प्रजाति नीचे दी गई है।

1. ड्वार्फ बिटर्न:- बगुले की इस प्रजाति की उम्र सबसे कम होती है। यह मात्र 12 वर्ष तक जीवित रह सकता है। यह पक्षी यूरोपीय देशों में पाए जाने का अनुमान है।

2. ग्रेट ब्लू हीरों:- इस प्रजाति का बगुला सबसे अधिक 25 वर्ष तक जीवित रह सकता है।

3. गोलियथ हीरों:- बगुले की सबसे बड़ी प्रजाति है इसका वजन 5kg तक हो सकता है।

4. लिस्ट बिटर्न:- बगुले की सबसे छोटी प्रजाति है इसका वजन 200 ग्राम होता है।

5. इंडियन पौंड हीरों:- यह दिखने में सफेद होता है, इसकी चोंच वा पैर दोनों काले होते हैं जो शिकार करने में काफी तेज होती है। इसका मुख्य निवास स्थान भारत है।

6. अमेरिकन बिटर्न:- यह दिखने में मेला सफेद व चोंच काली होती है जो इससे बेहद खूबसूरत बनाती है, यह मुख्य रूप से अमेरिकी देशों में पाई जाती है।

7. ऑस्ट्रेलेशियन बिटर्न:- इसका रंग काला एवं सफेद व चोंच काफी नुकीली होती है। जो ऑस्ट्रेलिया एवं न्यूजीलैंड देश में पाई जाती है वहां के स्थानीय से बनीप पक्षी कहते हैं।

8. जापानी नाइट हीरों:- बगुले के प्रजाति में सबसे खूबसूरत एवं आकर्षक इस प्रजाति के पक्षी होते हैं जो दिखने में हल्का काले होते हैं, यह मुख्य रूप से जापान, इंडोनेशिया, फिलीपींस नामक देशों में पाई जाती है।

9. चाइनीज पौंड हीरों:- बगुले के इस प्रजाति का रंग काला एवं सफेद होता है जो इसे खूबसूरत बनाता है। यह मुख्य रूप से चीन में पाया जाता है वहां के स्थानीय द्वारा इसे तालाब वाला पक्षी कहा जाता है।

10. रिफेसेंट टाइगर हीरों:- इस प्रजाति का बगुला शिकार करने में काफी तेज होता है यह शिकार को 1 सेकंट से भी कम समय में पकड़ लेता है जो दिखने में काला एवं मेला भूरा होता है। यह मुख्य रूप से मध्य अमेरिका में पाया जाता है।

बगुला पक्षी की महत्वपूर्ण जानकारी

नाम –                                            हिंदी में बगुला
अंग्रेजी –                                        Heron bird 
वैज्ञानिक नाम –                            Ardeidae
प्रजातियां –                                    70 (लगभग)
भोजन –                                        मछली, मेंढक, कीड़े, मकोड़े
वर्ग –                                             पक्षी
जगत –                                          जंतु
जीवनकाल –                                 15 से 20 साल

बगुला पक्षी के बारे में 10 लाइन

1. बगुला की प्रजाति पूरी दुनिया में मौजूद है।

2. बगुला का वैज्ञानिक नाम Ardeidae है।

3. बगुला का जीवनकाल 15 से 20 साल तक होता है।

4. बगुला का भोजन मेंढक, मछली, कीड़े मकोड़े होता है।

5. बगुला की चोंच काली होती है।

6. बगुला को चलाक पक्षी कहा जाता है।

7. भारत में बगुला की 22 प्रजातियां पाई जाती है।

8. बगुला की सबसे खूबसूरत प्रजाति ऑस्ट्रेलिया में पाई जाती है।

9. बगुला एक शिकारी पक्षी है।

10. बगुला एक सामूहिक पक्षी है जो समूह में रहती है।

इसे भी पढ़े

Bat Bird Information In Hindi | चमगादड़ पक्षी की जानकारी

निष्कर्ष

दोस्तों मुझे जानकर खुशी होगी। कि आपको Heron Bird in Hindi की जानकारी अच्छी लगी हो।
दोस्तों किसी कारणवश अगर हमसे किसी प्रकार की जानकारी छूट गई है। तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

Leave a Comment