WhatsApp Group Join Now

Palm tree information in Hindi | ताड़ वृक्ष की पूरी जानकारी

Palm tree in Hindi :- जय हिंद दोस्तों, ताड़ शाखाहीन वृक्ष है। जो Borassus flabelliformis वंश से संबंध रखता है। पूरी दुनिया में इसके 2600 प्रजातियां मौजूद है। ताड़ का निवास स्थान एशिया एवं पपुआ न्यू गिनी है। ताड़ को अंग्रेजी में palm tree व वैज्ञानिक नाम arecaceae है। ताड़ वृक्ष सदाबहार वन में अधिक पाई जाती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ताड़ वृक्ष नर एवं मादा दोनों होती है। नर वृक्ष में फल फलता है तो, मादा वृक्ष में फूल खिलते हैं जो इसे और खास बनाती है इसी खास वजह से ताड़ के वृक्ष को भारतीय नोट में जगह दिया गया है।
दोस्तों आज हम अपनी लेख Palm tree in Hindi के रोचक तथ्य जानने की कोशिश करेंगे और इससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा करेंगे जो आपके ज्ञान में बढ़ोतरी करने में सहायता प्रदान करेंगी। अगर आपको Palm tree के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे साथ अंत तक बने रहें।

ताड़ वृक्ष (Palm tree) की पूरी जानकारी

1. आकार :- ताड़ वृक्ष की सामान्य लंबाई 30 से 40 फीट होती है एवं मोटाई 1 से 2 फीट तक हो सकती है। wax palms नामक प्रजाति का ताड़ वृक्ष 200 फीट तक बढ़ सकती है यह ताड़ की सबसे ऊंची प्रजाति वाला वृक्ष है। वही conti palms नामक प्रजाति का ताड़ वृक्ष 4 से 6 फीट तक लंबी होती है यह ताड़ की सबसे छोटी प्रजाति है।

2. पत्ते का आकार :- ताड़ वृक्ष के पत्ते लंबाकार एवं गुच्छे में होते हैं। जो 1 से 1.5 मीटर लंबे होते है यह दिखने में हरे रंग का होता है। इसके पत्ते बेहद मजबूत होते है। आदिवासी लोग ताड़ वृक्ष के पत्ते को रस्सी बनाकर बेचते है, जिससे उनकी जीवनी चलती है।

3. जीवनकाल :- ताड़ वृक्ष के औसतन जीवनकाल 70 से 80 वर्ष के बीच होता है। Date palm नामक प्रजाति का ताड़ वृक्ष लगभग 200 वर्ष तक जीवित रहता है।

Palm tree

4. फूल :- मादा ताड़ के वृक्ष में फूल खिलते है जो दिखने में सुंदर होती है।

ताड़ वृक्ष (Palm tree) के रोचक तथ्य

नाम हिंदी में                                    ताड़
अंग्रेजी में                                        Palm
वैज्ञानिक नाम                                  arecaceae
जीवनकाल                                     70 से 80 साल
प्रजातियां                                        2600
जगत                                              पादप
फल                                               पाम फल
रस                                                ताड़ी
निवास                                            एशिया महाद्वीप

ताड़ वृक्ष (Palm tree) के वैज्ञानिकों व अन्य नाम

ताड़ वृक्ष का वैज्ञानिक नाम arecaceae है। गांव, देहात में इसे तार कहते है। और हिंदी में ताड़, ताल, तार, गुजराती में ताल, संस्कृत में दीर्घतरु, तेलुगु में तालि, तमिल में अनबनाई, मराठी में तमर, ओड़िया में तालो,

ताड़ वृक्ष (Palm tree) के फल की महत्वपूर्ण जानकारी

ताड़ वृक्ष का फल दिखने में गोलाकार आकार का होता है जिसे पाम फल के नाम से जानते है। पाम फल 9 इंच तक बड़े होते है जो अगस्त महीने में पकता है इसके आंतरिक भाग को खाया जाता है जो काफी कठोर होता है। पाम फल में पोषक तत्व एवं विटामिन से भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो इस प्रकार है।

पोषक तत्व :- प्रोटीन, सोडियम, कोलेस्ट्रॉल, पोटेशियम, फाइबर, शुगर आदि

विटामिन :- विटामिन सी, विटामिन बी6

Palm tree

पाम फल के फायदे
  1. पाम फल के नियमित रूप से सेवन से हैजा जैसे रोग को सामान्य रखा जा सकता है।
  2. पाम फल को सुबह खाली पेट सेवन करने से बाबासीर को नियंत्रित किया जा सकता है।
  3. पाम के फल में प्रोटीन, सोडियम, कोलेस्ट्रॉल, पोटेशियम, फाइबर, शुगर आदि भर भरपूर मात्रा में में पाई जाती है जो पोषक तत्व का अच्छा स्रोत है।
  4. पाम के फल को प्रतिदिन सेवन करने से कब्ज में राहत मिल सकता है।
  5. नियमित रूप से पाम फल के सेवन से वजन बढ़ता है।
  6. विर्य की गुणवत्ता में बढ़ोतरी करना।

पाम फल के नुकसान

  1. इसके फल से बच्चों को दूर रखनी चाहिए क्योंकि यह बहुत कठोर रहता है इसके सेवन से बच्चे के दांत टूट सकती है।
  2. ताड़ वृक्ष (Palm tree) के रस यानि ताड़ी की रोचक जानकारी
  3. ताड़ वृक्ष के ऊपरी हिस्से को काट कर उससे रस निकालते है जिसको ताड़ी कहा जाता है। ताड़ी में कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते है जिसके सेवन से सेहत अच्छी रहती है। इसे नीरा भी कहा जाता है। नीरा पीने से होने वाले फायदे इस प्रकार से है
  4. नीरा के रस को नियमित रूप से सेवन करने से पेट से संबंधित समस्या समाप्त होते हैं।
  5. उच्च रक्तचाप जैसी समस्या का समाधान करता है।
  6. पेट में जलन, पेशाब में पीलापन आदि को दूर करता है।
  7. नीरा से गुड बनाया जाता है, जिसका उपयोग घरेलू कार्यों में होता है।
  8. भारी गर्मी में शरीर का टेंपरेचर सामान्य रखता है।
  9. मलेरिया, टाइफाइड, सर्दी, खांसी आदि में नीरा का रस रामबाण सिद्ध होता है।
  10. पुराने घाव या जख्म को जल्दी भरने में सहायता करता है।
  11. नीरा के रस में लगभग 5% अल्कोहल होती है जो शरीर के अंदर में अल्कोहल की मात्रा को पूर्ति करता है।
  12. पाचन प्रक्रिया को सुदृढ़ बनाता है जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है।
  13. शुद्ध नीरा के रस को सुबह 2 से 3 बूंद आंख में डालने से आंखों में होने वाले संक्रमण एवं दर्द को जड़ से खत्म करती हैं।
  14. रोजाना निरा के रस को सेवन करने से लीवर की समस्या समाप्त होती है।
  15. प्रतिदिन खाली पेट एक से दो गिलास निरा के रस को सेवन करने से डायबिटीज से काफी राहत मिलती है।

ताड़ वृक्ष (Palm tree) के महत्वपूर्ण प्रजातियां

पूरे विश्व में ताड़ वृक्ष की लगभग 2600 प्रजातियां मौजूद है। भारत में झारखंड, बिहार, उड़ीसा, ऐसा राज्य है जहां ताड़ वृक्ष की संख्या अधिक है। कुछ महत्वपूर्ण प्रजातियों के बारे में आप लोगों को जाननी हैं, जो इस प्रकार से है।

1. Canary Island date palm। कैनरी द्वीप ताड़ :- यह ताड़ का बेहद खास प्रजाति है, जिसमें फल के रूप में खजूर फलते जो मोरक्को नामक देश का मूल निवासी है। इसका वैज्ञानिक नाम phoenix canariensis है।

2. Phoenix sylvestris। फीनिक्स सिल्वेस्ट्रिस :- इस प्रजाति को भारतीय खजूर कहा जाता है। जो भारत के साथ-साथ पाकिस्तान, चीन, भूटान, म्यांमार, नेपाल, बांग्लादेश आदि देश में पाई जाती है। यह भारत का मूल निवासी है। फीनिक्स सिल्वेस्ट्रिस का वैज्ञानिक नाम phoenix sylvestris है।

3. Ponytail palm। पोनीटेल ताड़ :- ताड़ की यह प्रजाति शतावरी परिवार से संबंध रखता है इसका निवास स्थान मेक्सिको सिटी है।

4. European fan palm। यूरोपीय प्रशंसक ताड़ :- इस प्रजाति का ताड़ वृक्ष बोना होता है इसका निवास स्थान यूरोप के देश है। यूरोपीय प्रशंसक ताड़ का वैज्ञानिक नाम chamaerops humilis है।

5. Queen palm। रानी ताड़ :- ताड़ के इस प्रजाति के वृक्ष को सजावट के रूप में प्रयोग करते हैं, जो विश्व भर में एक अलग पहचान बना कर रखी है इसका निवास स्थान दक्षिणी अमेरिका है। Queen palm का वैज्ञानिक नाम syagrus romanzofflana है।

6. Sabal palm। सबल ताड़ :- यह दलदलिये इलाको में अधिक मात्रा में पाई जाती है इसका मूल निवास स्थान वेस्टइंडीज है। Sabal palm का वैज्ञानिक नाम sabal palmettos है।

7. California palm। कैलिफोर्निया ताड़ :- सदाबहार वन में अधिक मात्रा में पाई जाती है इसका मूल निवास स्थान कैलिफोर्निया है। California palm का वैज्ञानिक नाम washingtonia fillifera है।

8. Cocos capitata। कोकोस कैपिटाटा :- इसका अन्य नाम जेली है जो ब्राजील का मुख्य निवासी है। इसका वैज्ञानिक नाम butia capitata है।

9. Jubaea chilensis | जुबेया चिलेंसिस :- इस प्रजाति का पेड़ दुर्लभ प्रजाति की श्रेणी में आता है। इसका वैज्ञानिक नाम Jubaea chilensis है।

10. Areca palm। सुपारी ताड़ :- सुपारी ताड़ के इस प्रजाति का अन्य नाम बटरफ्लाई ताड़ है। इसका निवास स्थान मेडागास्कर नामक देश है। सुपारी ताड़ का वैज्ञानिक नाम Dypsis Iutescens है।

और पढ़े khejri tree in Hindi

और पढ़े ebony tree in Hindi

ताड़ वृक्ष (Palm tree) के बारे में 10 महत्वपूर्ण जानकारी

1. ताड़ वृक्ष के पत्ते से कई सारी सामग्री बनाई जाती है।

2. भारत के तटीय इलाके एवं झारखंड, बिहार राज्य में ताड़ वृक्ष पाई जाती है।

3. ताड़ वृक्ष के रस को नीरा वा ताड़ी कहते है।

4. ताड़ वृक्ष का वैज्ञानिक नाम arecaceae है।

5. पूरे विश्व में इसके 2600 प्रजातियां मौजूद है।

6. भारत में इसकी 90 प्रजातियां मौजूद है।

7. ताड़ को अंग्रेजी में palm tree कहते है।

8. ताड़ वृक्ष के फल को पाम फल कहते है।

9. भारत में ताड़ वृक्ष के महत्व को देखकर इसको भारतीय रुपए में जगह दिया गया है।

10. ताड़ को तेलुगु में तालि कहते है।

दोस्तों मुझे बहुत खुशी होगी यह जानकर की आपको हमारा लेख Palm tree in Hindi बेहद पसंद आया है। जाने अनजाने में अगर हमसे कोई जानकारी छूट गई है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है।

Leave a Comment