WhatsApp Group Join Now

Poppy flower in hindi | पोस्ता फूल संपूर्ण जानकारी

About Information of Poppy flower in hindi :- जय हिंद दोस्तों, पोस्त एक ऐसी फूल है, जिसको दो नजरिए से देखा जाता है। इसकी मौजूदगी कुछ ही देश में है। पोस्त फूल को स्थानीय भाषा में गांजे का फूल कहते है। इसका वैज्ञानिक नाम papaver somniferum और इसके पौधे को खसखस के नाम से जाना जाता है। पोस्त फूल papaveraceae परिवार से अपना संबंध रखता है। इसको हिंदी में पोस्त या पोस्ता फूल कहा जाता है। पोस्ता नाम पश्तो भाषा से संबंधित है। पोस्ता फूल की खेती करने के लिए आपको सरकारी विभाग आबकारी से मंजूरी लेनी होगी, अन्यथा यह गैर कानूनी है।
आज इस लेखन प्रणाली में Poppy flower in hindi से संबंधित तथ्य एवं समस्याओं को आसान शब्दों में समझने का प्रयास करेंगे। तो हमारे साथ अंत तक बने रहे जिससे इस फूल से संबंधित जानकारी को आप आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।

पोस्ता फूल से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी । Important Information of Poppy flower in hindi

पौधा :- इसके पौधे की ऊंचाई लगभग 20 से 25 इंच तक होती है। वही चौड़ाई की बात करें तो लगभग 15 इंच होती है।

पत्ते :- इनकी पत्तियां का रंग हरा होता है, जो सीधे पौधे के तने से निकलती है। यह दृश्य दिखने में बेहद आकर्षक होती है ।

फूल :- पोस्ता फूल 2 से 3 सेंटीमीटर लंबा एवं 4 से 5 सेंटीमीटर चौड़ा होता है। जो नारंगी, पीला, बैंगनी, सफेद, लाल, गुलाबी आदि रंग के हो सकते है, इसकी बाहरी सतह में लगभग चार से पांच पंखुड़ियां होती है। और इसके बीच में बीज होता है, उसे ही डोडा कहा जाता है जो एक नशीली पदार्थ है। पोस्ता फूल खिलने का सही समय जून माह होती है।

डोडा के बाहरी परत को खसखस कहते है इसमें नशा की उपस्थिति नहीं होती है। यह स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।

जीवन काल :- पोस्ता बारहमासी पौधा है, यह वर्ष भर में मात्र एक बार फूल देता है। उसके पश्चात इसके पौधे को नष्ट कर दिया जाता है, उसके जगह पर पुनः नई बीज की बुवाई की जाती है।

निवास स्थान :- मध्यकाल के समय भूमध्य सागर में इसकी मौजूदगी अधिकांश थी। जैसे-जैसे आधुनिकता की शुरुआत हुई, वैसे ही इसकी खेती का भी प्रसार देखा गया वर्तमान समय में चीन, भारत, तुर्की, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, कज़ाख़िस्तान आदि देशों में इसकी खेती की जाती है।

भारत के कुछ ऐसे राज्य है, जहां पर अफीम की खेती की जाती है वह इस प्रकार है महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश आदि है।

अफगानिस्तान मात्र एक ऐसा देश है जहां पर पूरी दुनिया का लगभग 70% अफीम की खेती की जाती थी वर्तमान सरकार ने वहां पर अफीम की खेती पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिए है।

Poppy flower in hindi

Poppy flower in hindi

पोस्ता फूल के बीज (खसखस) से होने वाले फायदे । Benifits of poppy seeds in hindi

  • खसखस में प्रोटीन, कैल्शियम, फाइबर, मैंगनीज, विटामिन बी, विटामिन b6 जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में उपस्थित है।
  • खसखस में कुछ ऐसे एंटीबॉडीज पाई जाती है जो अस्थमा जैसी बीमारी को ठीक करने में सक्षम होता है।
  • नियमित रूप से खसखस के सेवन से बालो में मजबूती आती है।
  • सर दर्द, बुखार, सर्दी, खांसी आदि के लिए खसखस रामबाण है।

पोस्ता फूल के महत्वपूर्ण तथ्य । Important facts about poppy flower in hindi

नाम हिंदी में                                                       पोस्ता, पोस्त
अंग्रेजी में                                                            poppy
बीज का नाम                                                       खसखस
वैज्ञानिक नाम                                                      papaver somniferum
प्रजातिया                                                             लगभग 120
फैमिली                                                              papaveraceae
जगत                                                                 plantae

गुलबहार फूल की पूरी जानकारी
लिली फूलों की महत्वपूर्ण जानकारी
पोस्ता फूल की महत्वपूर्ण प्रजातियां । Most Important species poppy flower in hindi

संपूर्ण जगत में पोस्ता फूल की लगभग 120 प्रजातियां मौजूद है। जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण है जिनके बारे में आपको जानना अति आवश्यक है।

1. Papaver croceum :- पोस्ता की यह महीन प्रजाति है, जो दिखने में पीले एवं गुलाबी रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान चाइना एवं भारत है।

2. Oriental poppy :- यह एक बारहमासी पौधा है, दिखने में गुलाबी एवं बैंगनी रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान ईरान नामक देश है।

3. Opium poppy :- इसका अधिकांश उपयोग सजावटी सामग्री में किया जाता है। जो दिखने में पीले रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान एशिया महाद्वीप है।

4. Iceland poppy :- पोस्ता की यह खूबसूरत प्रजाति है, जो दिखने में पीला एवं गुलाबी रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान आइसलैंड है।

5. Common poppy :- पोस्ता की इस प्रजाति में औषधि की मात्रा अधिक होती है, जो दिखने में गुलाबी रंग का होता है। इसका मूल निवास स्थान एशियाई देश है।

Poppy flower in hindi

पोस्ता फूल की खेती कैसे की जाती है। 

सही बीज का चुनाव करना

उच्च गुणवत्ता वाली बीज के लिए आप अपने नजदीकी ब्लॉक या पैक्स पर जा सकते है। बीज चयन कर लेने के पश्चात

खेत को अच्छी तरह से जुताई कर लेनी है, और कुछ बातों को ध्यान में रखनी है।

मिट्टी का पीएच मान 6 से 7 के बीच होनी चाहिए।

बीज रोपण करने का सही समय नवंबर से दिसंबर माह के बीच होती है।

पोस्ता की खेती हमेशा ढलान वाली क्षेत्रो में की जाती है। क्युकी जहां अधिक जल जमाव होता है वहां इसकी फसल सड़ जाती है।

खेत को अच्छी तरह से साफ सफाई कर लेनी है। इसके पश्चात आप बीज रोपण कर सकते है।

बीज रोपण करने के पश्चात कुछ बातों को ध्यान में रखनी है।

पोस्ता के बीज में ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए आप साप्ताहिक रूप में पानी दे सकते हैं।

खाद के रूप में आप घरेलू गोबर का प्रयोग कर सकते है, फसल की स्थिति गंभीर हो तब आप जैविक खाद का उपयोग कर सकते है।

50 से 60 दिनों में पौधे की पत्तियों बड़ी होने लगती है। उस समय आप पौधे की छटनी कर सकते है।

जैसे-जैसे ग्रीष्म ऋतु का आगमन होगा वैसे-वैसे अफीम का फसल तैयार होने लगता है। मई – जून माह में फसल पूरी तरह से तैयार हो जाती है।

अफीम के फल से कई तरह के दवाइयां बनाई जाती है।

पोस्ता फूल 10 ऐसे प्रश्न जिनके बारे में अधिकांश पूछी जाती है।

1. पोस्ता फूल मूल निवास स्थान कहां है।
Ans एशिया महाद्वीप

2. पोस्ता फूल वैज्ञानिक नाम क्या है।
Ans papaver somniferum

3. क्या पोस्ता फूल की खेती करना कानूनी है।
Ans जी हां केवल आपको सरकारी विभाग आबकारी से परमिशन लेना होगा।

4. कौन-कौन देश में पोस्ता फूल की खेती की जाती है।
Ans भारत, चीन, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, कज़ाख़िस्तान, तुर्की आदि

5. पोस्ता फूल किस परिवार से अपना संबंध रखता है।
Ans papaveraceae

6. कौन से देश में इसकी खेती अधिक की जाती थी।
Ans अफगानिस्तान में, परंतु वर्तमान सरकार ने इस पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है।

7. भारत के कौन से राज्य में ऐसी खेती की जाती है।
Ans महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड आदि

8. उत्तराखंड के कौन से जिले में पोस्ता के पत्ते का सब्जी बनाया जाता है।
Ans गढ़वाल

9. पोस्ता फूल किस ऋतु में खिलता है।
Ans ग्रीष्मकल

10. पोस्ता के बीज को किस नाम से जाना जाता है।
Ans खसखस

बहुत-बहुत धन्यवाद दोस्तों, कि आपने हमारा लेख Poppy flower in hindi को अंत तक पढ़ाई की मुझे पूरा विश्वास है कि आपको इससे संबंधित जितने प्रकार की समस्याएं थी वह हल हो गई होगी। अगर हमसे किसी प्रकार की जानकारी छूट गई है तो आप हमें टिप्पणी करके अवश्य बताएं। और हमारा लेख आपको थोड़ा सा भी अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

लिली फूलों की महत्वपूर्ण जानकारी

Leave a Comment